Heart attack,heart attack symtoms,heart attack types

Heart attack

| हार्ट अटैक यानि दिल का दौरा |

heart attack की वजह  से बहुत सारे लोगो को अपनी जिन्दगी से हाथ धोना पड़ता है 

आज की सामान्य जिन्दगी  बड़ते दौर, 

आज के बड़ते दौर मे heart attack की समस्या  बहुत तेजी से बड रही है ,और यह और तेजी से बड़ते जा रही है  भारत में हर साल 17 लाख लोग हर साल हार्ट अटैक के कारण उनकी मौत हो रही है, यह आकड़े इस  बीमारी की भयानक स्तिथि बया करने के लिए काफी है,इसका एक मुख्य कारण है लोगो को हार्ट अटेक के बारे में पूरी जानकारी नही होना इस बीमारी के बडने का मुख्य कारण है आपको heart attack के बारे में पूरी जानकारी नही होना |

अगर आप अब  भी इस बीमरी  की जानकारी से अंजान है तो इस पेज को पूरा पड़े –

What is heart attack

दिल का दौर मतलब दिल की मांसपेसियो में रक्त प्रवाह में  रूकावट ,

दिल का दौर एक medical emergency  है दिल का दौरा आमतौर पर तब होता है जब रक्त का थक्का ह्रदय में रक्त के प्रवाह में अवरोध उत्पन्न कर देता है, रक्त के बिना उतक ओक्सीजन खो देता है और मर जाता है| 

Heart attack types

दिल के दौर के 3 प्रकार है 

1 – ST Segement Evalivation Myocordial Infraction – यह छाती के बिच में होने वाला दर्द है  इसमें तीव्र दर्द नहीं होता है बल्कि दबाव और जकडन महसूस होती है कुछ लोगो को बहो गले जबड़े और पीठ में भी दबाव और जकडन महसूस होता है| 

2 – Non-ST Segement Evalivation Myocordial Infraction –  NSSEMI  में कोरोनरी धमनिया आंशिक रूप से अवरुद्ध होती है, NSSEMI से इलेक्ट्रो कार्डियो ग्राम से  ST SEGMENT में कोई बदलाव नही आता  है

3 – अस्थिर एंजाइना या कोरोनरी  एठन – इसे ज्यादातर अपच या मसपेशी में दर्द , कोरोनरी ऐठन से कोई खतरनाक हानी नहीं होती है लेकिन इससे दिल का दौरा फिर से पड़ने का जोखिम बाद जाता है |

Heart attack symtoms

  •  heart attack आने से पहले आपको कुछ symtoms दिखाई दे सकते है – 
  • जिसमे पीठ दर्द होना
  • छाती में दर्द होना,
  • गले में दर्द उत्पन्न हो सकता है,
  •  पसीना आना ,
  • उलटी होना,
  • साँस लेने में भी परेशानी हो सकती है 
  •  घबराहट होना अदि symtoms दिखाई दे सकते है यदि यह symtoms दिखाई दे तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करे 

Prevention of heart attack

  • heart attack का खतरा कम करने के लिए व् अपने कमजोर  दिल को बेहतर बनाने के लिए समय समय पर अपने डाक्टर से सलाह लेते रहे  
  • ब्लडप्रेशर सुगर जैसी बिमारिया  होतो इन्हें हमेशा कण्ट्रोल में रखे यह बिमारिया आपके heart को बोहोत अधिक नुकसान पहुचा सकती है 
  • हमेशा blood टेस्ट करते रहे साथ ही कोलेस्ट्रोल लेवल को कण्ट्रोल में रखे 
  • रोजाना  योग प्राणायाम करे और अपने खान पान पर ध्यान दे 
  • खाने में तेल वासा कम मात्र में ले तथा हरी सब्जियों और फलो का सेवन करे  
  • 3 महीने में कम से कम एक बार डाक्टर को अवश्य दिखाए 

Heart attack में क्या परहेज करे

  • दिल का दौरा पड़ने पर 2-3- सप्ताह तक यौन संबंध न बनाये 
  • धुम्रपान दिल के दौरा का मुख्या कारण है इसलिए इससे दुरी बनाकर रखे धुम्रपान करना आपके लिए घातक साबित हो सकता है 
  • तली हुई सब्जिया व् मांस का उपयोग बोहोत ही कम मात्र में करे 
  • ज्यादा नमक वाला भोजन न खाए 
  • सफ़ेद चावल का उपयोग न करे 
heart attack

visit my facebook page

heart attack के मरीज के खाने पिने का ध्यान रखने की बोहोत अधिक अवशकता होती  है  यति छाती में किसी भी प्रकार का दर्द हो तो तुरंत डॉ. को दिखया व् ECG करवाए, यह एक ऐसी जाँच होती है जिसमें हार्ट attack का आसानी से पता लगाया जा सकता है 

यदि घूमते फिरते समय छाती में दर्द हो तो TMT करवाए  यह जाँच भी heart से सम्बंधित जाँच होती है 

This Post Has 2 Comments

  1. Karina mohabe

    Nice lines….. Good topic…

Leave a Reply